Sunday , 22 September 2019

तूफान वायु का खतरा, पूरी तरह से नहीं टला, कई ट्रेनें रेलवे ने रद्द की…

Loading...

चक्रवाती तूफान ‘वायु’ को लेकर गुजरात पर छाया संकट थोड़ा कम हो गया है। पश्चिम रेलवे ने चक्रवात वायु के चलते नौ और ट्रेनें रद्द कर दी गईं और चार अन्य ट्रेनों को आंशिक रूप से रोक दिया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक, 150 से ज्यादा की रफ्तार से गुजरात  की तरफ बढ़ रहे चक्रवाती तूफान वायु ने अपनी दिशा बदल ली है। अब वह गुजरात के तटीय इलाकों को छू कर निकल जाएगा। खतरा अभी पूरी तरह ने नहीं टला है। 

बीश्केक पुहंचते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सीएम विजय रुपाणी से फोन पर बात की। पीएम मोदी ने गुजरात में चक्रवात वायु के दौरान चल रही तैयारियों के बारे में जानकारी ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चक्रवात की तैयारियों को लेकर नेवी और कोस्ट गार्ड की तौयारियों का जायजा लिया है। गुजरात सरकार के एडिशनल सेक्रेटरी ने जानकारी देते हुए कहा है कि Cyclone Vayu के कारण अभी तक किसी के घायल होने का या मारे जाने की कोई खबर नहीं है। चक्रवात का फिलहाल गुजरात के हवाई अड्डों पर कोई असर नहीं पड़ा है। सूरत, भुज, केशोद, कांडला, जामनगर, वडोदरा, अहमदाबाद में स्थिति सामान्य है। दीव, पोरबंदर और भावनगर के हवाई अड्डे पर 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही है। स्थिति पर बारीकी से नजर रखी जा रही है।

युद्ध स्तर पर की गई तैयारियां-   गुजरात सरकार ने हालात से निपटने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारियां की हैं। इस दौरान एनडीआरएफ की 52 टीमों को तैनात किया गया है। साथ ही, सेना के तीनों अंगों और कोस्ट गार्ड को भी अलर्ट पर रखा गया है। पुलिस व राज्‍य सरकार के आला अफसर लगातार चक्रवात की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। चक्रवात की गति 135 से 145 किमी प्रति घंटा बताई जा रही है, लेकिन इसके 160-170 किमी प्रति घंटे तक बढने की भी आशंका है। वायु चक्रवात के अब गुजरात के तट से टकराने का खतरा टल गया है, लेकिन सरकार व आपदा प्रबंधन ने आगामी 15 जून तक लोगों को सावधान रहने को कहा है।

Loading...

गांवों को कराया गया खाली-  प्रशासन ने एहतियातन कदम उठाते हुए तटीय इलाकों में रह रहे लगभग 4 लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है। देर रात तक NDRF और पुलिस की टीमों ने मिलकर कई गांवों को खाली कराया। लगभग 10 हजार से ज्यादा पर्यटकों को भी सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है।

यातायात सेवाएं बाधित-  तूफान के चलते रेल, सड़क और वायु यातायात सेवाएं बाधित हो गई हैं। पोरबंदर समेत प्रभावित इलाकों के हवाई अड्डों से उड़ानों को निलंबित कर दिया गया है। चार सौ उड़ानों पर इसका असर पड़ा है। पश्चिम रेलवे ने गुजरात के तटवर्ती इलाकों से गुजरने वाली 15 ट्रेनों को रद कर दिया है, उनका समय बदल दिया है। प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में पोर्ट पर भी कामकाज ठप है।

प्रशासन ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर-   चक्रवाती तूफान वायु के दौरान लोगों की मदद के लिए प्रशासन ने कई हेल्पलाइन नंबर जारी किए है। NDRF के कंट्रोल रूम का हेल्पलाइन नंबर- 91-9711077372, कच्छ कंट्रोल रूम का नंबर- 02832-250080, राजकोट कंट्रोल रूम का नंबर- 0281-2471573, जामनगर कंट्रोल रूम का नंबर- 0288-2553404, पोरबंदर कंट्रोल रूम का नंबर- 0286-2220800 और दाहोद कंट्रोल रूम का नंबर- 02673-239277 है।

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

loading...
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com