Tuesday , 29 September 2020

छेड़खानी का विरोध करने वाले की हत्या

Loading...

uppac_landscape_1457840770एजेंसी/मथुरा के छाता कोतवाली में वाल्मीकी किशोरी से एक दलित युवक ने छेड़खानी कर दी। इसका विरोध करने पर ठाकुर जाति के युवक की हत्या कर दी गई और उसके पिता को भी सूजे के प्रहार से घायल कर दिया गया। घटना को लेकर गांव में जातीय तनाव है। गांव में पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है।
 
नौगांव निवासी वाल्मीकि घर की 17 वर्षीय किशोरी को गांव का दलित युवक लंबे समय से छेड़खानी कर परेशान करता था। शुक्रवार सायं किशोरी गांव में दुकान पर सामान खरीदने गई तो दलित युवक पंकज ने किशोरी संग छेड़खानी कर दी। वहां से गुजर रहे छिंगा ठाकुर से किशोरी ने बचाव की गुहार लगाई तो छिंगा ठाकुर ने पंकज को रोका तो वह उनसे भिड़ गया।

इस पर छिंगा ठाकुर ने पंकज की पिटाई कर दी और किशोरी को घर भेज दिया। पिटने के बाद पंकज अपने घर चला गया और शनिवार सुबह सूजा लेकर दरवाजे पर बैठ गया। रोजाना की तरह छिंगा ठाकुर सुबह 7:30 बजे जंगल जाने को निकला तो पंकज, उसका  भाई सोनू व पिता लल्लू सिंह ने पकड़ लिया और छिंगा ठाकुर के चेहरे पर सूजे से प्रहार कर घायल कर दिया।

छिंगा के बेटे 22 वर्षीय मंटू सिसौदिया उर्फ ब्रजमोहन को जब यह पता चली तो वह दौड़ा दौड़ा आया और पिता को पीटने वालों का ललकारा। इस पर पंकज ने चमड़ा काटने वाला छुरा दो तीन बार मंटू सिसौदिया के पेट में घोंप दिया। इससे वह लहूलुहान होकर गिर गया। ग्रामीण व छाता पुलिस मंटू व छिंगा को लेकर जिला अस्पताल आई। वहां मंटू को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

Loading...
सूचना पर एसओ शेरगढ़ मौके पर पहुंच गए। इस मामले में छिंगा उर्फ छैलबिहारी ने पंकज, उसके छोटे भाई सोनू व पिता लल्लू के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त छुरा और सूजा बरामद कर लिया है। मंटू की हत्या के बाद से गांव में तनाव व्याप्त हो गया। इस पर शेरगढ़, छाता, बरसाना, नौहझील, मांट व सुरीर तथा कोसीकलां थाना व जैंत चौकी की पुलिस व पीएसी तैनात कर दी गई। 

एसएसपी व एसडीएम ने किया गांव का निरीक्षण 
छाता। छाता कोतवाली के गांव नौगांव में युवक की हत्या किए जाने के बाद गांव में पनपे तनाव को लेकर गांव में पुलिस पीएसी तैनात करने के बाद एसएसपी डा राकेश सिंह, एसपी देहात अरुण कुमार सिंह, एसडीएम छाता रामअरज यादव, सीओ छाता पीयूष कुमार सिंह मय फ ोर्स के गांव में पहुंच गये और आक्रोशित ग्रामीणों को समझाया। साथ ही अधिकारियों ने पूरे गांव में निरीक्षण किया और लोगों को कार्रवाई का भरोसा दिया। 

एसओ शेरगढ ने बचाए दलित परिवार 
दलित समाज के सिरफि रे युवक द्वारा मंटू ठाकुर की हत्या कर देने के बाद ठाकुरों में आक्रोश व्याप्त हो गया और वे दलितों को मारने दौड़े। तभी सूचना पर एसओ शेरगढ़ मय फोर्स के पहुंच गए और निर्दोष दलितों को बचाया और सुरक्षित निकाला। इस दौरान पुलिस को लोगों का आक्रोश झेलना पड़ा। 

 

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

loading...
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com