Monday , 9 December 2019

उत्पन्ना एकादशी: इस दिन एकादशी माता का जन्म हुआ था

Loading...

भारतवर्ष में सनातन संस्कृति को व्रत, त्यौहारों और पर्वों की संस्कृति कहा जाता है। हिंदू धर्म में सभी तिथियों का अलग-अलग महत्व है और सभी तिथियां देवी-देवताओं से संबंधित है। इन तिथियों में कुछ तिथियों को उपवास करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। इनमें से एक विशेष तिथि और उस दिन किया जाने वाला व्रत एकादशी का है।

शास्त्रोक्त मान्यता है कि इस दिन व्रत और पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है और अंत में मोक्ष की प्राप्ति होती है। एक वर्ष में सामान्यत: 24 एकादशी होती है, जो अलग अलग नामों से जानी जाती है और उनके व्रत का फल भी अलग-अलग होता है। मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को उत्पन्ना एकादशी कहा जाता है। इस साल उत्पन्ना एकादशी 22 नवंबर शुक्रवार को है।

Loading...

मान्यता है कि एकादशी का व्रत रखने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। उत्पन्ना एकादशी को इसलिए विशेष माना जाता है क्योंकि इस दिन एकादशी माता का जन्म हुआ था। इसी दिन भगवान विष्णु ने मुरमुरा नाम के राक्षस का वध किया था।

इसलिए उनकी विजय के उपलक्ष में इस व्रत को किया जाता है। उत्तर भारत में मार्गशीर्ष महीने में तो दक्षिण भारत में इसको कार्तिक मास में मनाया जाता है।

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

loading...
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com