Thursday , 17 June 2021

उतार चढ़ाव के बीच गिरकर बंद हुआ शेयर बाजार

Loading...

indiatv_paisa_share_marketदिनभर उतार चढ़ाव के बीच बुधवार को मामूली गिरावट के साथ बंद हुए देश के शेयर बाजार। 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 10 अंक गिरकर 26,633 पर और 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 2 अंक गिरकर 8190 के स्तर पर बंद हुआ है।

दिनभर सीमित दायरे में हुआ कारोबार
घरेलू बाजारों में आज सुस्ती के साथ सीमित दायरे में ही शेयर बाजार में कारोबार देखने को मिला। सुबह सेंसेक्स और निफ्टी की की ओपनिंग सपाट हुई थी। दिन-भर निफ्टी 40 अंकों के दायरे में झूमता रहा, तो सेंसेक्स 120 अंकों के दायरे में ही नजर आया। अंत में निफ्टी 8200 के आसपास ही बंद हुआ है।

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में दिखी मजबूती
मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी मजबूती देखने को मिली है। निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स 0.5 फीसदी तक बढ़कर बंद हुआ है, जबकि बीएसई के मिडकैप इंडेक्स में सुस्ती देखने को मिली है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 0.5 फीसदी तक मजबूत होकर बंद हुआ है।

सेक्टर इंडेक्स का प्रदर्शन
बैंकिंग और ऑयल एंड गैस में बिकवाली से बाजार पर दबाव नजर आया है। बैंक निफ्टी 0.8 फीसदी गिरकर 17,891 के स्तर पर बंद हुआ है, जबकि निफ्टी के पीएसयू बैंक इंडेक्स में 0.8 फीसदी और प्राइवेट सेक्टर बैंक इंडेक्स में 0.9 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। बीएसई का ऑयल एंड गैस इंडेक्स 0.5 फीसदी कमजोर होकर बंद हुआ है। हालांकि आईटी, एफएमसीजी, ऑटो, कैपिटल गुड्स और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स शेयरों में अच्छी खरीदारी देखने को मिली है। निफ्टी के आईटी इंडेक्स में 1.3 फीसदी, एफएमसीजी इंडेक्स में 0.3 फीसदी और ऑटो इंडेक्स में 0.3 फीसदी की तेजी आई है। बीएसई के कैपिटल गुड्स इंडेक्स में 0.7 फीसदी और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स इंडेक्स में 1.2 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है।

Loading...

अगले 3 महीने में ये है बड़े इवेंट
20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प पद संभालेंगे। एक फरवरी को आम बजट पेश होगा और फरवरी-मार्च में उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में चुनाव

इन हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों के शेयरों में लगा सकते हैं पैसा
बैंकों के ब्याज दरों में 1.5 फीसदी तक की कटौती और प्रधानमंत्री की रियल्टी सेक्टर को लेकर की गई बड़ी घोषणाओं के बाद हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों के शेयरों में जोरदार तेजी देखन को मिल रही है। एक्सपट्र्स का मानना है कि रियल्टी सेक्टर को इससे सहारा मिलेगा। लिहाजा जनवरी-मार्च तिमाही में हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों की क्रेडिट ग्रोथ सुधरेगी। ऐसे में इन्वेस्टर्स छोटी अवधि के लिए एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस, श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस, इंडियाबुल्स हाउसिंग के शेयरों पर दांव लगा सकते है।

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com