Saturday , 20 July 2019
Loading...

आशकी लिखे दीवानगी लिखे या अपनी ख्मुशी लिखे…

Loading...

1. आशकी लिखे दीवानगी लिखे या अपनी ख्मुशी लिखे 
दिल के ज़ज्बात अब अल्फाज़ नही बनते 
आखिर आज क्या लिखे.

 

2. तेरी चाहत मेरी आँखों में है 
तेरी खुशबू मेरी सांसो में है 
मेरे दिल को जो घायल कर जाए 
ऐसी अदा सिर्फ तेरी बातो में है.

3. यूं नजर से बात की और दिल चुरा गए 
अँधेरे से सायो में धड़कन सुना गए 
हम समझते थे अजनबी आप को 
पर आप तो हमको अजनबी बना गए.

4. इस दिल को किसी की आस रहती है 
निगाहों को किसी सूरत की प्यास रहती है 
तेरे बिना किसी चीज़ की कमी तो नही 
पर तेरे बिना ज़िन्दगी बड़ी उदास रहती है.

5. चूमेंगे किस की ज़ुल्फ़ घटाओ को देखकर 
एक जुर्म ऐ खुश ग्वार का मौसम ना आजाए.

6. पलकों की हलचल को इकरार कहते है 
किसी को ढूढे नजर तो उसे इन्तजार कहते है 
किसी के बिना जब बेचैन हो दिल तो उसे प्यार कहते है.

 

7. उम्र गुजारी है इल्तिजा करते 
किस्सा -ऐ – गम लब आशना करते 
जीने वाले तेरे बगैर ऐ दोस्त 
मर ना जाते तो और क्या करते.

8. सीने से लगा के यार रूठ गए है 
जाने क्यों है उन्हें हमसे मोहब्बत ज्यादा 
जो वो हर बात जनके भूल जाते है.

9. तेरी चाहत मेरी आँखों में है 
तेरी खुशबू मेरी सांसो में है 
मेरे दिल को जो घायल कर जाए 
ऐसी अदा सिर्फ तेरी बातो में है.

Loading...
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com