Friday , 3 April 2020

UP में कोरोना के 43 पॉजिटिव केस, पीलीभीत में मां के बाद बेटा भी पॉजिटिव

Loading...

चीन से फैले जानलेवा कोरोना वायरस के संक्रमण का कहर समूचे विश्व को अपनी जद में ले चुका है। भारत में यह स्टेज टू से थ्री की ओर बढ़ने को है। ऐसे में केंद्र के साथ राज्य सरकार ने कमर कर ली है। देश तथा भर में 21 दिन के लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के पॉजिटिव की संख्या बढ़ती जा रही है। 

लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज से गुरुवार को सैंपल की रिपोर्ट जारी हुई है, उसमें चार केस पॉजिटिव है। इनमें तीन नोएडा के हैं। चौथा शख्स बागपत का है। यह सभी नोएडा तथा बागपत के अस्पताल में भर्ती हैं। इस तरह से अब उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़कर 43 हो गई है। बुधवार तक 39 थे। देशभर में यह आंकड़ा 629 है।

किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में बुधवार को 97 सैंपल की जांच की गई, जिसमें चार में कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट है। इनमें नोएडा की 21 वर्षीय युवती, 33 वर्षीय महिला तथा 39 वर्षीय पुरुष हैं। इनमें 21 वर्षीय युवती के माता-पिता भी पॉजिटिव है। कोरोना वायरस से संक्रमित तीन और नए मरीज नोएडा में पाए गए हैं इस तरह नोएडा में अब तक कुल 14 लोगों में कोरोना वायरस पाया गया है। चौथी रिपोर्ट में पॉजिटिव 32 वर्षीय पुरुष बापगत का है। वह कुछ दिन पहले ही दुबई से लौटा है। प्रदेश में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित सर्वाधिक 14 लोग नोएडा में पाए गए हैं।

वहीं लखनऊ और आगरा में आठ-आठ, गाजियाबाद-तीन, पीलीभीत व बागपत में दो-दो तथा लखीमपुर खीरी, मुरादाबाद, वाराणसी, कानपुर, जौनपुर और शामली में एक-एक व्यक्ति इस वायरस से संक्रमित पाए जा चुके हैं। नोएडा में जिन तीन लोगों में कोरोनावायरस की पुष्टि हुई है, उनका कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। उनके पेरेंट्स कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और उन्हें से उनसे ही संक्रमण हुआ है। जो तीन लोग पॉजिटिव पाए गए हैं, उनमें 21 और 33 वर्षीय दो महिला और एक 39 साल का पुरुष शामिल है। सभी को नोएडा में ही भर्ती कराया गया है। नोएडा में कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा है। शहर के अब तक 14 लोगों में इसकी पुष्टि हो चुकी है।

लखनऊ में एसजीपीजीआई लखनऊ के सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर सुजीत कुमार ने बताया कि लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज तथा हमारे संस्थान में भर्ती कोरोना वायरस पॉजिटिव सभी की शारीरिक स्थिति ठीक है। हम पिछले छह दिनों से घर नहीं गए हैं। हम अपने कर्तव्य पालन में लगे हैं। हम सभी की अच्छी तरह से देखभाल में लगे हैं। हमारे यहां हमारी टीम में नर्सिंग स्टाफ दिन-रात लगा है।

Loading...

इससे पहले प्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित दो और व्यक्ति मिले। इनमें एक पीलीभीत का, जबकि एक बागपत का था। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के लक्षण पाए जाने पर बुधवार को प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में 73 मरीजों को भर्ती कराया गया। प्रदेश में अभी तक कोरोना वायरस के 1830 संदिग्ध मरीजों के नमूने जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। इनमें से 1707 की रिपोर्ट निगेटिव पाई गई है, जबकि 85 लोगों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। कोरोना वायरस से संक्रमित 11 मरीज स्वस्थ होकर घर वापस जा चुके हैं जिनमें सात आगरा, दो गाजियाबाद और एक- एक नोएडा व लखनऊ के हैं । प्रदेश के हवाई अड्डों पर अब तक 26369 यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। नेपाल से सटे प्रदेश के जिलों में बनाए गए बॉर्डर चेक पोस्टों पर अब तक 1546443 लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है।

पीलीभीत में मां के बाद बेटा भी पॉजिटिव

पीलीभीत में मक्का से उमरा कर लौटी महिला में पहले ही कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी। अब उनके बेटे में भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। हालांकि परिवार से जुड़े तीन अन्य लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है।

बागपत में दुबई से लौटा था युवक

बागपत में कोरोना से संक्रमित युवक दुबई से लौटा था। वह 19 मार्च को वापस आया था और खुद को घर पर ही आइसोलेट कर लिया था। तबीयत ज्यादा खराब होने पर युवक खुद ही मंगलवार सुबह जिला अस्पताल पहुंच गया था। मेरठ सीएमओ डा. राजकुमार ने बताया कि युवक की कोरोना की जांच रिपोर्ट स्क्रीनिंग में पॉजिटिव आई है।

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

loading...
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com