अन्तर्राष्ट्रीय – Live Halchal http://www.livehalchal.com Latest News , Updated News,Hindi News Portal Mon, 24 Feb 2020 11:39:23 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=5.3.2 अमेरिका और भारत दुनिया में दो सबसे बड़े लोकतंत्र मोदी और ट्रंप की दोस्ती से बहुत कुछ हासिल हुआ: निक्की हेली http://www.livehalchal.com/%e0%a4%85%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%94%e0%a4%b0-%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a4%a4-%e0%a4%a6%e0%a5%81%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%ae%e0%a5%87/324061 Mon, 24 Feb 2020 11:39:23 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=324061  प्रख्यात भारतीय-अमेरिकी राजनीतिज्ञ निक्की हेली ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति की पहली आधिकारिक भारत यात्रा के दौरान डोनाल्ड ट्रंप और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच दोस्ती से बहुत कुछ हासिल हुआ है। ट्रंप प्रशासन के पहले दो वर्षों में संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की दूत और किसी भी राष्ट्रपति प्रशासन में पहली बार कैबिनेट …]]>

 प्रख्यात भारतीय-अमेरिकी राजनीतिज्ञ निक्की हेली ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति की पहली आधिकारिक भारत यात्रा के दौरान डोनाल्ड ट्रंप और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच दोस्ती से बहुत कुछ हासिल हुआ है।

ट्रंप प्रशासन के पहले दो वर्षों में संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की दूत और किसी भी राष्ट्रपति प्रशासन में पहली बार कैबिनेट रैंकिंग करने वाले भारतीय-अमेरिकी हेली ने कहा कि वह ट्रंप और प्रथम महिला मेलानिया को भारत की यात्रा पर देखकर गर्व महसूस कर रही हैं।

48 वर्षीय शीर्ष रिपब्लिकन नेता और दक्षिण कैरोलिना के पूर्व गवर्नर ने एक ट्वीट में कहा कि अमेरिका और भारत दुनिया में दो सबसे बड़े लोकतंत्र हैं और कई मूल्यों को साझा करते हैं। मोदी और ट्रंप की दोस्ती से बहुत कुछ हासिल हुआ है।

व्हाइट हाउस के पूर्व अधिकारी पीटर लावॉय ने कहा कि मोदी- ट्रंप शिखर सम्मेलन अहम होगा क्योंकि सुरक्षा संबंध और उन्नत होंगे। इस दौरान कश्मीर मुद्दे को टाल दिया जाएगा, अफगानिस्तान को लेकर उचित प्रबंधन किया जाएगा, व्यापार मतभेदों को कम किया जाएगा, ऊर्जा संबंधों को बढ़ाया जाएगा और रक्षा सौदों होगा।

]]>
मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्‍मद ने अचानक दिया इस्‍तीफा अब अनवर इब्राहिम करेगे …….. http://www.livehalchal.com/%e0%a4%ae%e0%a4%b2%e0%a5%87%e0%a4%b6%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%a7%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%ae%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%80-2/323955 Mon, 24 Feb 2020 09:55:13 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=323955 प्रधानमंत्री महातिर मोहम्‍मद का अचानक इस्‍तीफा देने से यहां राजनीतिक संकट उत्‍पन्‍न हो गया है। मलेशिया के प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया  राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों की ओर से सरकार गिराने की कोशिशों के बीच प्रधानमंत्री ने अपना इस्तीफा किंग को सौंप दिया है। महातिर 10 मई,  2018 को प्रधानमंत्री बने थे। …]]>

प्रधानमंत्री महातिर मोहम्‍मद का अचानक इस्‍तीफा देने से यहां राजनीतिक संकट उत्‍पन्‍न हो गया है। मलेशिया के प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया  राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों की ओर से सरकार गिराने की कोशिशों के बीच प्रधानमंत्री ने अपना इस्तीफा किंग को सौंप दिया है।

महातिर 10 मई,  2018 को प्रधानमंत्री बने थे। बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और महातिर के बीच दोस्ती गाढ़ी दोस्‍ती है। महातिर ने कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान के समर्थन किया था। इसके बाद भारत और मलेशिया के बीच दोस्ती में थोड़ा तनाव उत्‍पन्‍न हो गया था। भारत ने मलेशिया से पाम ऑयल के ऑयल के कटौती कर दी थी।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक महातिर की पार्टी बेरास्तु ने साझा सरकार के गठबंधन को छोड़ दिया है। लिहाजा उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। विश्व के सबसे उम्रदराज नेता, 94 वर्ष के महातिर ने उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों द्वारा सरकार गिराने की कोशिशों के बाद ये फैसला लिया। उनके कार्यालय ने एक बयान में कहा कि महातिर ने ‘मलेशिया के प्रधानमंत्री के तौर पर अपना इस्तीफा भेज दिया है।

महातिर की मलेशिया की राजनीति में एक अच्‍छा अच्‍छा खाशा दखल रहा है। यहां की राजनीति में उनकी मजबूत पकड़ है। वर्ष 1981 से लेकर साल 2003 तक महातिर मोहम्‍मद देश के प्रधानमंत्री रहे।

इसके बाद एक बार फिर से वर्ष 2018 में उन्होंने सत्ता संभाली थी। वर्ष 2018 के चुनाव में उन्होंने नज़ीब रज़ाक को हराया था। रज़ाक पर उस वक्त भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे।

पिछले एक हफ्ते से मलेशिया की राजनीतिक अस्थिरता चल रही थी। दरअसल वर्ष 2018 में महातिर और अनवर इब्राहिम ने मिलकर सरकार बनाई थी।

उस वक्त कहा गया था कि 94 साल के महातिर कुछ साल के बाद अनवर को सत्ता सौंप देंगे, लेकिन रविवार को अनवर ने महातिर की पार्टी पर धोखेबाजी का आरोप लगाया।उन्होंने कहा कि महातिर ने धोखा देते हुए यूनाइटेड मलायस नैशनल ऑर्गनाइजेशन (UMNO) के साथ हाथ मिला लिया।

]]>
पहले कभी नहीं देखा होगा ऐसे.. पैदा होता बच्चा देखकर आप भी रह जाएगे दंग http://www.livehalchal.com/%e0%a4%aa%e0%a4%b9%e0%a4%b2%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a4%ad%e0%a5%80-%e0%a4%a8%e0%a4%b9%e0%a5%80%e0%a4%82-%e0%a4%a6%e0%a5%87%e0%a4%96%e0%a4%be-%e0%a4%b9%e0%a5%8b%e0%a4%97%e0%a4%be-%e0%a4%90%e0%a4%b8/323913 Mon, 24 Feb 2020 09:12:14 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=323913 अधिकतर देखा जाता है कि जन्म के दौरान बच्चे रोते हुए ही पैदा होते हैं, लेकिन ब्राजील में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें बच्चा रोने के बजाय गुस्से से डॉक्टरों को देख रहा है। दरअसल, डॉक्टर यह जानने के लिए कि बच्चा स्वस्थ है और सही प्रकार से सांस ले रहा है, नवजात …]]>
अधिकतर देखा जाता है कि जन्म के दौरान बच्चे रोते हुए ही पैदा होते हैं, लेकिन ब्राजील में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें बच्चा रोने के बजाय गुस्से से डॉक्टरों को देख रहा है। दरअसल, डॉक्टर यह जानने के लिए कि बच्चा स्वस्थ है और सही प्रकार से सांस ले रहा है, नवजात को रुलाते हैं।

ब्राजील के रियो डी जेनेरियो के एक अस्पताल में 13 जनवरी को एक बच्ची का जन्म हुआ। लेकिन जन्म के दौरान आम बच्चों की तरह वह रोई ही नहीं। इसके बाद डॉक्टरों ने चाहा कि गर्भनाल काटने से पहले उसे रुलाया जाए, लेकिन बच्ची थी कि अपने चेहरे पर गुस्से के भाव लिए डॉक्टरों को एकटक देखती रही।

बच्ची की इस हरकत से डॉक्टर भी एक बार को हक्का-बक्का रह गए। उन्होंने फौरन बच्ची की फोटो खींच ली। डॉक्टरों ने बताया कि हम बच्ची की इस हरकत को देखकर बहुत हैरान हुए। उनका कहना था कि आज तक उन्होंने कभी भी इस तरह से बच्चों को ऐसा कुछ करते नहीं देखा है।

डॉक्टरों ने बताया कि जब बच्ची की गर्भनाल काटी गई तो वह रोने लगी। दूसरी ओर, इस तस्वीर को अस्पताल की तरफ से शेयर किया गया है। बच्ची के माता-पिता ने उसका नाम इसाबेल परेरा डी जीसस रखा है।

बच्ची की मां डायना डी जीसस बारबोसा ने इस पल को संजोकर रखना चाहती थी, इसलिए उन्होंने स्थानीय फोटोग्राफर रोड्रिगो कंट्समैन को बुलाया। डायना ने बताया कि तस्वीर इस बात को बयां करती है कि बच्ची कितनी बहादुर है। उन्होंने कहा कि मेरी बेटी पैदा ही बहादुर हुई।

डायना ने बताया कि मुझे पता है कि यह तस्वीर अब मीम बन चुकी है। जब भी उसका डायपर खोला जाता है या उसका उपचार किया जाता है तो वह भौंहें चढ़ाकर देखती है।

इस तस्वीर को लेने वाले फोटोग्राफर रोड्रिगो ने बताया कि डॉक्टरों ने गर्भनाल काटने से पहले बच्ची के रोने का इंतजार किया। उन्होंने बताया कि बच्ची ने अपनी आंखें खोलीं, लेकिन वह बिल्कुल भी रोई ही नहीं।

रोड्रिगो ने बताया कि डॉक्टरों ने प्यार से उसे रोने के लिए कहा, लेकिन उसने गंभीर दिखने वाला चेहरा बनाकर डॉक्टरों की तरफ देखा और जैसे ही उसकी गर्भनाल को काटा गया, वह रोने लगी। उन्होंने कहा कि बच्चे का जन्म एक विशेष क्षण में होता है, जिसे रिकॉर्ड किया जाना चाहिए।

]]>
पीएम इमरान खान ने मानी हार कहा- मोदी के रहते नामुमकिन है ये… http://www.livehalchal.com/%e0%a4%aa%e0%a5%80%e0%a4%8f%e0%a4%ae-%e0%a4%87%e0%a4%ae%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%a8-%e0%a4%96%e0%a4%be%e0%a4%a8-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a5%80-%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%b0/323852 Mon, 24 Feb 2020 07:28:47 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=323852 ऐसा लग रहा है कि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कश्मीर मामले को लेकर पीएम मोदी के सामने सरेंडर कर दिया है। इमरान का मानना है कि मोदी के रहते कश्मीर का कुछ नहीं हो सकता। बता दें कि गत वर्ष जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान तिलमिलाया हुआ है। …]]>

ऐसा लग रहा है कि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कश्मीर मामले को लेकर पीएम मोदी के सामने सरेंडर कर दिया है। इमरान का मानना है कि मोदी के रहते कश्मीर का कुछ नहीं हो सकता। बता दें कि गत वर्ष जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान तिलमिलाया हुआ है। इमरान ने तक़रीबन हर बड़े मंच पर कश्मीर का मुद्दा उठाया है। मगर उन्हें हर जगह झटका लगा है।

बेल्जियम के एक टीवी चैनल के साथ बात करते हुए इमरान खान ने कहा कि, ‘मुझे भारत के इस सरकार से अधिक उम्मीद नहीं है। जब तक पीएम मोदी है तब तक कुछ नहीं हो सकता। मगर मुझे उम्मीद है कि भविष्य में कोई सशक्त नेता कश्मीर के मुद्दे को जरूर सुलझाएगा। हर समस्या का निराकरण होता है। स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान भारत के नेता जवाहर लाल नेहरू ने कश्मीरियों को अधिकार देने का वादा किया था। किन्तु उन्हें ये अधिकार नहीं दिए गए।’

पाकिस्‍तान अगस्‍त 2019 में जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा-370 हटाने के बाद से बौखलाया हुआ है। सबसे पहले उसने भारत सरकार के फैसले का विरोध किया। इसके बाद भारत से राजनयिक संबंधों को कम करना शुरू कर दिया। इसी कड़ी में उसने पाकिस्‍तान में भारतीय उच्‍चायुक्‍त को नई दिल्‍ली लौटने का आदेश भी दे दिया था। इसके साथ ही पाकिस्तान कई दफा भारत को परमाणु युद्ध की धमकी भी दे चुका है, लेकिन हर तरफ से मुंह की खाने के बाद अब इमरान खान नरम पड़ गए हैं।

]]>
जापान के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार डायमंड प्रिंसेज पर सवार तीसरे यात्री की हुई मौत http://www.livehalchal.com/%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%aa%e0%a4%be%e0%a4%a8-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e2%80%8d%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e2%80%8d%e0%a4%a5%e0%a5%8d%e2%80%8d%e0%a4%af-%e0%a4%ae%e0%a4%82/323794 Mon, 24 Feb 2020 05:55:42 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=323794 जापान के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार डायमंड प्रिंसेज पर सवार तीसरे यात्री की मौत हो गई। मौत का कारण न्‍यूमोनिया था। एनएचके वर्ल्‍ड जापान के अनुसार, मंत्रालय की ओर से यह स्‍पष्‍ट नहीं किया गया है कि 80 आस-पास की उम्र वाले पीड़ित शख्‍स कोरोना वायरस से संक्रमित था या नहीं। क्रूज जहाज से हटाकर …]]>

जापान के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार डायमंड प्रिंसेज पर सवार तीसरे यात्री की मौत हो गई। मौत का कारण न्‍यूमोनिया था। एनएचके वर्ल्‍ड जापान के अनुसार, मंत्रालय की ओर से यह स्‍पष्‍ट नहीं किया गया है कि 80 आस-पास की उम्र वाले पीड़ित शख्‍स कोरोना वायरस से संक्रमित था या नहीं। क्रूज जहाज से हटाकर उसका इलाज अस्‍पताल में कराया गया।

क्रूज जहाज से हटाकर उसका इलाज अस्‍पताल में कराया गया। वह जापान का रहने वाला था। इस बारे में अधिक जानकारी नहीं दी गई कि पीड़ित की कोई जांच भी हुई या नहीं। बता दें कि इस क्रूज को वायरस के डर से अलग ही रखा गया था फिर भी संक्रमण इस कदर बढ़ रहा है।

क्रू मेंबर्स समेत 634 यात्री कोरोना वायरस के लिए टेस्‍ट में पॉजीटिव पाए गए। पिछले गुरुवार को दो अन्‍य यात्री की मौत हो गई थी। दोनों की ही उम्र 80 से अधिक थी।

]]>
कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी, नही थम रहा मौत का आंकड़ा… http://www.livehalchal.com/%e0%a4%95%e0%a5%8b%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%a8%e0%a4%be-%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%af%e0%a4%b0%e0%a4%b8-%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a4%b9%e0%a4%b0-%e0%a4%b2%e0%a4%97%e0%a4%be%e0%a4%a4%e0%a4%be/323785 Mon, 24 Feb 2020 05:53:19 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=323785 चीन में महामारी बन चुके कोरोना वायरस से 150 और लोगों की मौत होने के बाद इस घातक वायरस के संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़ कर सोमवार को 2,592 हो गई। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने बताया कि 150 में से 149 लोगों की मौत हुबेई प्रांत में हुई है, जहां इस वायरस …]]>

चीन में महामारी बन चुके कोरोना वायरस से 150 और लोगों की मौत होने के बाद इस घातक वायरस के संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़ कर सोमवार को 2,592 हो गई। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने बताया कि 150 में से 149 लोगों की मौत हुबेई प्रांत में हुई है, जहां इस वायरस का सबसे अधिक प्रकोप है। आयोग ने 409 नए मामलों के सामने आने की पुष्टि भी की, जिनमें से अधिकतर हुबेई प्रांत में हैं।

कोरोना वायरस से खतरे में पड़ सकती है दुनिया की अर्थव्यवस्था

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की प्रमुख क्रिस्टालीना जॉर्जीवा ने रविवार (23 फरवरी) को कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार की गति जोखिम में पड़ सकती है। उन्होंने जी-20 देशों के वित्तमंत्रियों तथा केंद्रीय बैंकों के गवर्नरों की यहां चल रही बैठक के दूसरे दिन रविवार को कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में पिछले साल 2.9 प्रतिशत की दर से वृद्धि हुई। इस साल इस दर के सुधरकर 3.3 प्रतिशत हो जाने का अनुमान था। उन्होंने कहा, ”वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर में अनुमानित सुधार अब और नाजुक है।”

जॉर्जीवा ने कहा, ”कोविड-19 (कोरोना वायरस), जो कि स्वास्थ्य एवं चिकित्सा के लिये एक वैश्विक आपातकाल है, के कारण चीन में आर्थिक गतिविधियां बाधित हुई हैं और इसके कारण वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर में सुधार की राह में जोखिम उत्पन्न हो सकता है।” उन्होंने कहा, ”मैंने जी-20 को बताया है कि यदि कोरोना वायरस के संक्रमण पर तेजी से काबू पा लिया जाता है, तब भी चीन की और शेष विश्व की आर्थिक वृद्धि दर पर इसका असर पड़ेगा।”

उन्होंने कहा कि इस वायरस के संक्रमण के कारण वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर में 0.1 प्रतिशत की गिरावट आ सकती है। इसके कारण चीन की आर्थिक वृद्धि दर इस साल 5.6 प्रतिशत पर सिमट सकती है। जॉर्जीवा ने इस वायरस के संक्रमण पर काबू पाने के लिये जी-20 के सदस्य देशों से आपस में तालमेल का आह्वान किया।

उन्होंने कहा, ”कोविड-19 हमारे अंतर्संबंधों और साथ मिलकर काम करने की जरूरत की याद दिलाता है। इस संबंध में जी-20 एक महत्वपूर्ण मंच है जो वैश्विक अर्थव्यवस्था को मजबूत स्थिति में लाने में मदद कर सकता है।” उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के कारण चीन में अब तक करीब 2,500 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके कारण कई कंपनियों और कारखानों को परिचालन बंद करना पड़ा है।

]]>
प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन मर्केल ने महारानी पर निशाना साधा http://www.livehalchal.com/%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%82%e0%a4%b8-%e0%a4%b9%e0%a5%88%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%94%e0%a4%b0-%e0%a4%89%e0%a4%a8%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%aa%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%a8%e0%a5%80/323583 Sun, 23 Feb 2020 11:21:15 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=323583 ब्रिटिश शाही परिवार में अंदरूनी कलह खुलकर सामने आ गई है। प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन मर्केल ने ससेक्स शाही उपाधि छोड़ने के लिए मजबूर करने पर नाराजगी जाहिर करते हुए महारानी पर निशाना साधा है। दंपती ने कहा है कि विदेशी धरती पर ‘शाही’ शब्द का इस्तेमाल महारानी के अधिकार क्षेत्र में नहीं …]]>

ब्रिटिश शाही परिवार में अंदरूनी कलह खुलकर सामने आ गई है। प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन मर्केल ने ससेक्स शाही उपाधि छोड़ने के लिए मजबूर करने पर नाराजगी जाहिर करते हुए महारानी पर निशाना साधा है। दंपती ने कहा है कि विदेशी धरती पर ‘शाही’ शब्द का इस्तेमाल महारानी के अधिकार क्षेत्र में नहीं आता।

हैरी और मेगन ने हाल में शाही परिवार से अलग होने के औपचारिक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इसके तहत उन्हें शाही उपाधि ‘हिज और हर रॉयल हाइनेस’ (एचआरएच) छोड़नी थी।

साथ ही दोनों अब अपने कर्तव्यों के निर्वहन के लिए किसी तरह के सार्वजनिक कोष का भी इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। मेट्रो अखबार में शनिवार को प्रकाशित खबर के अनुसार, राजशाही के भीतर अपनी नई भूमिकाओं को रेखांकित करते हुए दंपती ने आरोप लगाया कि उनके साथ शाही परिवार के अन्य सदस्यों की तरह व्यवहार नहीं किया गया।

उन्होंने कहा, ‘शाही परिवार में ऐसे भी सदस्य हैं, जिन्हें अपना खिताब बरकरार रखते हुए विदेश में रोजगार की अनुमति दी गई है। हमें वे सभी रियायतें नहीं मिलीं, जिसकी हमें उम्मीद थी।’

दंपती का यह बयान बकिंघम पैलेस द्वारा शुक्रवार को की गई उस घोषणा के बाद सामने आया है, जिसमें कहा गया था कि दंपती अब ड्यूक और डचेज ऑफ ससेक्स की अपनी उपाधियों का प्रयोग नहीं कर सकेंगे।

]]>
कोरोनावायरस के कहर से चीन की लाखों कंपनियां अपने अस्तित्व को बचाने की जद्दोजहद में लगी हुई http://www.livehalchal.com/%e0%a4%95%e0%a5%8b%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%af%e0%a4%b0%e0%a4%b8-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a4%b9%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%9a%e0%a5%80%e0%a4%a8/323448 Sun, 23 Feb 2020 09:22:20 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=323448 चीन के सबसे बड़े कार डीलर्स में से एक की निदेशक ब्रिगिटा इस समय बड़ी उलझन में हैं। उनके पास अपनी कंपनी को बचाने के लिए बहुत विकल्प नहीं बचे हैं क्योंकि कंपनी के 100 आउटलेट कोरोनावायरस की वजह से पिछले एक माह से बंद हैं। कंपनी के पास कैश खत्म हो रहा है और …]]>

चीन के सबसे बड़े कार डीलर्स में से एक की निदेशक ब्रिगिटा इस समय बड़ी उलझन में हैं। उनके पास अपनी कंपनी को बचाने के लिए बहुत विकल्प नहीं बचे हैं क्योंकि कंपनी के 100 आउटलेट कोरोनावायरस की वजह से पिछले एक माह से बंद हैं।

कंपनी के पास कैश खत्म हो रहा है और बैंक आसानी से कर्ज नहीं दे रहे हैं। यह सिर्फ एक कंपनी की कहानी है लेकिन चीन की लाखों कंपनियां अपने अस्तित्व को बचाने में जद्दोजहद में लगी हुई हैं। इन कंपनियों को सरकार की ओर से किए गए तमाम उपायों का कुछ खास फायदा अब तक नहीं मिल सका है।

Coronavirus ने 75,000 से अधिक लोगों को अपने जद में ले लिया है। इस वजह से चीन की इकोनॉमी लगभग थम सी गई है। छोटी एवं मझोले आकार की कंपनियों को लेकर हाल में हुए सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है कि केवल एक तिहाई कंपनियों के पास ही एक महीने के खर्च लायक नकदी बची है। वहीं एक तिहाई कंपनियों का कहना है कि उनके पास दो माह के खर्च के बराबर कैश पड़ा है।

चीन की सरकार ने स्थिति को काबू में करने के लिए ब्याज दरों में कटौती की है। इसके अलावा बैंकों को अधिक कर्ज देने और कंपनियों को परिचालन दोबार शुरू करने के लिए नियमों में ढील देने को कहा है।

हालांकि, चीन के करोड़ों कारोबारियों में से कई का कहना है कि उन्हें कर्ज और सैलरी के पेमेंट के लिए फंड नहीं मिल पा रहा है। बिना किसी वित्तीय मदद के इनमें से कई कंपनियां बंद हो सकती हैं।

Beijing Zhonghe Yingtai Management Consultant Co में एनालिस्ट एल चांगसुन का कहना है कि अगर चीन इस साल की पहली तिमाही में वायरस को रोकने में विफल रहता है तो बड़ी संख्या में छोटी कंपनियों के बंद होने का खतरा है।

]]>
अमेरिका लागू करने जा रही है नया नियम भारतीय वीजा धारकों के लिए होगी मुश्किल… http://www.livehalchal.com/%e0%a4%85%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%97%e0%a5%82-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%9c%e0%a4%be-%e0%a4%b0%e0%a4%b9%e0%a5%80-%e0%a4%b9/323388 Sun, 23 Feb 2020 07:41:40 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=323388 सोमवार से अमेरिका एक नया नियम लागू करने जा रहा है। इस नियम से उन कानूनी आव्रजकों को ग्रीन कार्ड या कानूनी रूप से स्थायी निवास की अनुमति नहीं दी जाएगी जिन्होंने फूड स्टैम्प्स जैसी जन योजनाओं का फायदा उठाया। विस्तार अमेरिका के इस कदम से कई ऐसे भारतीय नागरिक प्रभावित हो सकते हैं, जिनके …]]>
सोमवार से अमेरिका एक नया नियम लागू करने जा रहा है। इस नियम से उन कानूनी आव्रजकों को ग्रीन कार्ड या कानूनी रूप से स्थायी निवास की अनुमति नहीं दी जाएगी जिन्होंने फूड स्टैम्प्स जैसी जन योजनाओं का फायदा उठाया।

विस्तार

अमेरिका के इस कदम से कई ऐसे भारतीय नागरिक प्रभावित हो सकते हैं, जिनके पास एच-1बी वीजा हैं और जो लंबे समय से स्थायी कानूनी निवास की अनुमति मिलने का इंतजार कर रहे हैं। इस संदर्भ में व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव स्टेफनी ग्रीशम ने कहा है कि, ‘उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद होमलैंड सुरक्षा विभाग सोमवार को अपना कानून लागू कर पाएगा।’

अमेरिकी करदाताओं को मिलेगी सुरक्षा

आगे उन्होंने कहा कि, ‘इस फैसले से कठिन परिश्रम कर रहे अमेरिकी करदाताओं को सुरक्षा मिलेगी, वास्तव में जरूरतमंद अमेरिकियों के लिए कल्याण योजनाएं सुरक्षित होंगी, संघीय घाटा कम होगा और यह मौलिक कानूनी सिद्धांत पुन: स्थापित होगा कि हमारे समाज में आने वाले नये लोग वित्तीय रूप से आत्म निर्भर हो और अमेरिका के करदाताओं पर बोझ न बनें।’

विभाग करेगा पहचान

14 अगस्त 2019 को प्रकाशित अंतिम नियम को 15 अक्तूबर 2019 से लागू करना था लेकिन अदालतों के विभिन्न फैसलों के कारण इसे लागू नहीं किया जा सका था। इस कानून से होमलैंड सुरक्षा विभाग यह पहचान करेगा कि कौन विदेशी नागरिक देश में रहने योग्य नहीं है और क्यों उसे अमेरिका में स्थायी निवास की अनुमति नहीं दी जा सकती क्योंकि वह विदेशी भविष्य में कभी भी ‘पब्लिक चार्ज’ बन सकता है।

अमेरिकी नागरिकता एवं आव्रजन सेवा के अनुसार, नए कानून में स्थायी निवास की अनुमति मांग रहे व्यक्ति को यह दिखाना होगा कि उसने गैर प्रवासी दर्जा हासिल करने के बाद से वित्तीय फायदे वाली योजनाओं का लाभ नहीं उठाया। माइग्रेशन पॉलिसी इंस्टीट्यूट रिपोर्ट, 2018 के अनुसार 61 फीसदी गैर नागरिक बांग्लादेशी परिवारों, 48 फीसदी गैर-नागरिक पाकिस्तानी और 11 फीसदी गैर नागरिक भारतीय परिवारों ने जन लाभ हासिल किए जिनकी नए कानून के अनुसार जांच की जाएगी।

]]>
अरबों रूपए की संपत्ति के मालिक: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप http://www.livehalchal.com/%e0%a4%85%e0%a4%b0%e0%a4%ac%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%b0%e0%a5%82%e0%a4%aa%e0%a4%8f-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%b8%e0%a4%82%e0%a4%aa%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%a4%e0%a4%bf-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%ae/323354 Sun, 23 Feb 2020 06:44:53 +0000 http://www.livehalchal.com/?p=323354 अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक कामयाब कारोबारी भी हैं। ब्रुकलिन न्यूयॉर्क से डोनाल्ड ट्रंप ने अपने बिजनेस करियर की शुरूआत अपने पिता के साथ मिलकर की थी। आज अरबों रूपए की संपत्ति के मालिक हैं ट्रंप। 1971 में खुद के रियल एस्टेट बिजनेस की नींव रखी। जिसका नाम उन्होंने रखा ‘मेनहट्न रियल स्टेट’। फिफ्थ …]]>

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक कामयाब कारोबारी भी हैं। ब्रुकलिन न्यूयॉर्क से डोनाल्ड ट्रंप ने अपने बिजनेस करियर की शुरूआत अपने पिता के साथ मिलकर की थी। आज अरबों रूपए की संपत्ति के मालिक हैं ट्रंप। 1971 में खुद के रियल एस्टेट बिजनेस की नींव रखी।

जिसका नाम उन्होंने रखा ‘मेनहट्न रियल स्टेट’। फिफ्थ एवेन्यू, ट्रंप टावर, ट्रंप पार्क और ट्रंप प्लाजा इन सभी प्रोजेक्ट्स के साथ डोनाल्ड ट्रंप अपनी कारोबारी कामयाबी की सीढियां चढ़ते चले गए।

रियल एस्टेट की दुनिया में शक्तिशाली खिलाड़ी बन गए। जब ट्रंप केवल 27 साल के थे तब ही वह 14,000 फ्लैट्स के मालिक बन गए थे। डोनाल्ड ट्रंप ने अपने पिता से 14 मिलियन डॉलर उधार लेकर अपना व्यापार शुरू किया था। लगभग 251 अरब के मालिक हैं डोनाल्ड ट्रंप।

अगर डोनाल्ड ट्रंप की संपति की बात की जाए तो वो किसी धनकुबेर से कम नहीं हैं। डोनाल्ड ट्रंप दुनिया के 336 वें अमीर आदमी हैं, और अमेरिका के 156 धनी व्यक्ति हैं। 2019 सितंबर में फोर्ब्स के अनुमान के अनुसार ट्रंप की कुल कुल संपत्ति संपत्ति 3.5 बिलियन डॉलर जो भारतीय रूपए में लगभग 251 अरब है। जिसमे शामिल हैं-

कैश और निजी संपत्ति
लगभग 222 करोड़ (310 मिलियन डॉलर)

ब्रांड संपत्ति
लगभग 575 करोड़ (80 मिलियन डॉलर )

गोल्फ कोर्स और क्लब
424 करोड़ (590 मिलियन डॉलर )

NYC रियल स्टेट
लगभग 107 अरब (1.5 बिलियन डॉलर )

NYC नॉन -रियल स्टेट
लगभग 474 करोड़ (660 मिलियन डॉलर)

ट्रंप का घर का नाम है जो किसी राजमहल से कम नहीं। जानिए क्या खास है इस ट्रंप महल में,
द न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार, राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बावजूद, डोनाल्ड ट्रंप अपने सलाहकारों के साथ बात कर रहे थे कि वह अपने कार्यकाल के दौरान न्यूयॉर्क शहर में कितना समय बिता सकते हैं। यह इसलिए क्योंकि उनको अपने घर में रहना था।

द न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार, ट्रम्प अपनी अध्यक्षता के दौरान व्हाइट हाउस और न्यूयॉर्क शहर के बीच अपने समय को कैसे विभाजित किया जाए इस पर  विचार करते रहते हैं। वो अपने निजी घर में ज्यादा से ज्यादा समय बिताने का प्रयास करते हैं।

उनके घर की  संपत्ति न्यूयॉर्क सिटी के सेंट्रल पार्क और कला और परिवार की दीवारों को चित्रित करती है। साल  2014 में एक बार उन्होंने अपने जीवनीकार, माइकल डी’ऑनटनियो को एक साक्षात्कार में बताया था कि,“यह एक बहुत ही जटिल इकाई है; इस इकाई का निर्माण, यदि आप स्तंभों और नक्काशियों को देखते हैं, तो इस इकाई का निर्माण भवन के निर्माण से कहीं अधिक कठिन था’

]]>