Sunday , 27 September 2020

मैं दर्द सहती हूं, तुम सजा कबूल कर लो

Loading...
 मैं दर्द सहती हूं, तुम सजा कबूल कर लो: रेप विक्टिम
मैं दर्द सहती हूं, तुम सजा कबूल कर लो: रेप विक्टिम

एजेंसी/ सेंटा क्लेरा : अमेरिका में एक रेप केस की सुनवाई के दौरान पीड़िता ने जज के सामने आरोपी को जमकर फटकार लगाई। पीड़िता ने जो कुछ भी कहा, वो सब सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के पूर्व स्विमर ब्रॉक एळन टर्नर ने 23 साल की लड़की का रेप किया था।

गुरुवार को टर्नर को 6 माह की जेल की सजा सुनाई गई। इससे पीड़िता नाराज हो गई और कोर्ट में ही आरोपी को जमकर लताड़ा। सेंटा क्लेरा काउंटी डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी ने सुनवाई के बाद कहा कि 20 साल के करिअर में ऐसा बयान उन्होंने नहीं सुना।

6 माह की जेल

इस फैसले पर 28 हजार लोगों ने पिटीशन दायर कर जज एरॉन पर्स्की से वापस सुनवाई की मांग की है। लोगों का मानना है कि जज ने दोषी के प्रति ज्यादा नरमी बरती है। पीड़िता ने टर्नर से कहा कि तुम्हारी जिंदगी बेहतर करने में मैं भी मदद करूंगी।

तुमने मेरा सबकुछ छीन लिया, मेरी प्राइवेसी, एनर्जी, वक्त, इंटिमेसी, सेल्फ कॉन्फिडेंस, मेरी आवाज भी। जो होना था, हो चुका। कोई इसे बदल नहीं सकता। अब हमारे पास एक ही ऑप्शन है। इसे डेस्टिनेशन मान लें और जिंदगी तबाह होने दें। मैं गुस्से में और दुखी रहूं और तुम आरोपों से इनकार करते रहो या फिर हम इसका सामना करें।

Loading...

मैं दर्द कबूल करती हूं, तुम सजा कबूल कर लो और हम आगे बढ़ते हैं। उम्मीद करती हूं, इस सबक के बाद तुम बेहतर इंसान बनोगे। सीख लेकर दूसरों की जिंदगी बर्बाद नहीं करोगे। आगे लड़की ने कहा कि टर्नर का पहला अपराध इसलिए उसे कम सजा दी जा रही है, लेकिन मेरे साथ भी तो पहली बार हुआ है।

सजा इतनी कड़ी हो कि लोग ऐसे अपराध करने से डरें। दुनियाभर की महिलाओं से कहना चाहती हूं कि मैं आपके साथ हूं, जब भी लोग आपकी सच्चाई पर संदेह करेंगे, मैं आपके साथ हूं। टर्नर ने 2015 में यूनिवर्सिटी कैंपस के भीतर हुई पार्टी में एक लड़की के बेहोश हो जाने के बाद उसके साथ रेप किया था।

मार्च में उसे दोषी ठहराया गया। उसे 14 साल की जेल हो सकती थी, लेकिन प्रॉसिक्यूशन ने कहा कि उसे 6 साल की जेल हो सकती है औऱ जज ने सिर्फ 6 माह की सजा सुनाई।

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

loading...
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com