Wednesday , 21 November 2018

बहुत जरुरी हैं की नियमित रूप से आप अपने गुप्तांग को साफ़ करे…

पुरुष और महिलाएं दोनों को अपने प्राइवेट पार्ट की सफाई  का विशेष ख्याल रखना चाहिए। शरीर को स्वस्थ्य रखने और हानिकारक बैक्टीरिया से बचाए रखने के लिए प्राइवेट पार्ट को स्वच्छ रखना बहुत ही  आवश्यक है। जननांगों की नियनित सफाई ये सुनिश्चित करती है कि आपके प्राइवेट पार्ट स्वस्छ व स्वस्थ रहते है। आपको बता दें कि गुप्तांगों (Private Parts) के पास कुछ बैक्टीरिया होते है जो कि आपको नुकसान नहीं पहुंचाते है लेकिन अगर उस जगह की सफाई नहीं की जाती है तो ये बैक्टीरिया बढ़ सकते है जो आपके स्किन के लिए और प्राइवेट अंगों के लिए अच्छा नहीं है। आइए आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे है कि क्यों प्राइवेट पार्ट को साफ रखना जरूरी है। गंदगी के कारण प्राइवेट अंगों में होने वाली बीमारियां क्या है और इससे कैसे बच सकते है।

  • प्राइवेट पार्ट को साफ रखने के लिए हर दिन इसे धोएं। पेनिस, स्कोर्टम, गुदा (anus) के साथ साथ प्यूबिक हेयर को नरम साबुन और पानी से धोना चाहिए।
  • पेशाब करने के बाद पेनिस को हल्का हिला देना चाहिए जिससे पेशाब की शेष बूंदें भी निकल जाए ।
  • पेशाब करने और मल त्याग के बाद अपने हाथ को अच्छे से साफ करना चाहिए।
  • पेनिस और अंडाकोष (testicles) की भी रोजाना सफाई करनी चाहिए जिससे प्यूबिक हेयर से पसीने की महक न आए।जब लड़का का जन्म होता है तो पेनिस की त्वचा ( foreskin) पीछे नहीं जाती है। ऐसे में युवा को पेनिस की त्वचा को पीछे करने की कोशिश नहीं करना चाहिए। बच्चा जब धीरे-धीरे बढ़ा होता है तो वह अपने आप ही पीछे चला जाता है। तब तक चमड़ी को रोजाना पानी से साफ करना चाहिए।
    • आपका साबुन केमिकल फ्री होने के साथ ही ज्यादा खूशबूदार नहीं होना चाहिए।
    • कभी-कभी पेनिस की त्वचा के पास सफेद, पीले तेल जैसे पदार्थ देखने को मिल सकते है जिसको स्मेग्मा ( Smegma) कहते है। इसकी सफाई करते रहना चाहिए। जिससे किसी भी प्रकार को दुर्गंध नहीं आए और कोई इंफेक्शन नहीं हो।
    • कई बार फोरे स्किन में सूजन की समस्या हो जाती है ऐसे में खुशबूदार साबुन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए साथ ही ढीला अंडरवियर पहनना चाहिए।
    • बच्चों की बात करें तो समय समय पर डायपर (diapers) को बदलते रहना चाहिए।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com