Friday , 3 April 2020

पैर के इस अंगूठे में बस बांध ले काला धागा फिर देखिये…चमत्कार

Loading...

कुछ लोगो को आपने काला धागा पहने हुए तो देखा ही होगा। इसके साथ ही कुछ लोग काले धागे को गले में, तो कुछ लोग हाथ में और कुछ लोग पैर में भी पहनते है। लेकिन आपने यह कभी सोचा है कि आखिर लोग काले धागे क्यों पहनते है? शायद आपने यह कभी सोचा नहीं होगा। वैसे अगर देखा जाए तो काला रंग नाकारात्मक उर्जा उत्पन्न करता है, जिसके कारण किसी भी शुभ कार्य में काला धागा या काले रंग के कपडे का प्रयोग करना वर्जित है। लेकिन हम आपको यह बता दें कि काले रंग का धागा यदि आप अपने शरीर पर धारण करते है तो इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह किसी भी प्रकार की उर्जा को आपके शरीर से बाहर नहीं निकलने देती है।इस रंग को शनि देव का सूचक माना गया है ।

इस रंग से दोस्‍ती मतलब हर बुरी चीज से आप सुरक्षित ।काला रंग का प्रयोग नकारात्‍मकता फैलाता है । भगवान को इस रंग का भोग, वस्‍त्र, आभूषण ऐसा कुछ भी अर्पित नहीं किया जाता है । लेकिन जब बात नजर दोष से बचाने की होती है तो यही काला रंग आपकी रक्षा भी करता है ।अक्सर हम देखते हैं कि छोटे बच्चों के पैरों, हाथों या कमर में काला धागा बांधा जाता है. या फिर उसको काला टिका लगाया जाता है ताकि उसे बुरी नज़र से बचाया जा सके. अब यह कितना सच है यह तो हम नहीं जानते. पर आज हम पैर के अंगूठे में काला धागा बंधने के बारे में जानेगे की इससे क्या फायदा होता है|आपको बता दे कि काला धागा सिर्फ नजर उतारने में ही नही बल्कि और बहुत से कामों में फायदा करता है।

Loading...

शास्त्रों में काले धागे के बहुत से फायदे दर्ज हैं जिन्हें कोई भी इंसान ले सकता है। वहीं आज हम आपको काले धागे के एक ऐसे फायदे के बारे में बताएंगे जो कि दाहिने पैर के अंगूठे में बांधने से मिल सकता है। तो आइये जानते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें काले धागे को पैर में बांधने से कोई नजर का ताल्लुक नही है, आपको जानकर हैरानी होगी कि पैर के अंगूठे में काला धागा बांधने से एक ऐसी गंभीर बीमारी को जड़ से खत्म किया जा सकता है जो की डॉक्टर भी ठीक नहीं कर पाते|जैसा कि आप जानते है हमारे शरीर मे हजारों नसे है, जो शरीर के अलग अलग हिस्सों से जुड़ी है. ठीक एक नस हमारे अंगूठे से होते हुए नाभि से जुड़ी होती है.

 

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

loading...
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com