Monday , 14 June 2021

नोटबंदी से तिलमिलाए कालेधन वाले नहीं चलने दे रहे संसदः स्मृति

Loading...

आगरा (जेएनएन)। विपक्ष पर हमलावर केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने आगरा में कहा कि नोटबंदी से काले धन की राजनीति करने वाले तिलमिला गए हैं और वह संसद नहीं चलने दे रहे। ठीक इसी दौरान आगरा में सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने पीएम संसद आकर नोटबंदी पर चर्चा में भाग लें, उन्हें बोलने से कोई नहीं रोकेगा।

 

11_12_2016-smriti-iraniआज केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वर्ष 2016 हिंदुस्तान का अनूठा इतिहास बताएगा। जब सेना ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए दिल्ली के फरमान का इंतजार नहीं किया, क्योंकि दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। एक जंग सेना ने सरहद पर आतंकवाद से लड़ी तो दूसरी जंग प्रधानमंत्री ने देश में भ्रष्टाचार व कालेधन पर रोक लगाने को 500 व 1000 रुपये के नोट बंद कर लड़ी। देश की जनता और युवा प्रधानमंत्री के संघर्ष में उनके साथ है। स्मृति ने प्रदेश की दुर्दशा के लिए सपा-बसपा को जिम्मेदार बताया। साथ ही प्रदेश में 2017 में भाजपा की सरकार बनाने के लिए युवाओं से जुटने का आह्वान किया। स्मृति ईरानी ने राहुल को निशाने पर लेते हुए कहा कि एक नेता उप्र में खाट सभा करने निकले हैं। उप्र में किसी गांव में जाकर पूछ लीजिए तो पता चलेगा कि तेरहवीं में खाट बांटी जाती है। लोकसभा में इस पार्टी के 40 सदस्य रह गए हैं। अब खाट सभा उप्र विधानसभा चुनाव में शोक मनाने के लिए की जा रही हैं।

 

Loading...

सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आज निशाना साधा और कहा कि सभी दल चाहते हैं कि प्रधानमंत्री संसद में आएं और नोटबंदी पर चर्चा में भाग लें। वह संसद में बोलें, उन्हें कोई नहीं रोकेगा। रामगोपाल ने कांग्रेस से गठबंधन के सवाल पर कहा कि कौन है ये पीके (प्रशांत किशोर)? उनकी बात का क्या महत्व है? प्रो. रामगोपाल यादव एक निजी कार्यक्रम में आगरा पहुंचे। यहां पत्रकारों से कहा कि प्रधानमंत्री के सलाहकार अच्छे नहीं है। नोटबंदी के फैसले से देश की अर्थव्यस्था दस साल पीछे चली गई। टिकटों की घोषणा के सवाल पर कहा कि प्रदेश अध्यक्ष ने टिकट सभी की सहमति से बांटी हैं। बाहुबलियों को भी प्रत्याशी बनाने पर कहा कि सभी टिकट बांटते हैं। उन्हें जिताती तो जनता ही है।

 

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com