Wednesday , 22 January 2020

कर्नाटक में श्री गुरु राघवेंद्र को ऑपरेटिव बैंक के बाहर लोगों की लगी लंबी लाइ, पढ़े पूरी खबर

Loading...

कर्नाटक में श्री गुरु राघवेंद्र को ऑपरेटिव बैंक के बाहर लोगों की लंबी लाइन लग गई है। दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने इस बैंक पर किसी भी प्रकार का व्यवसाय करने पर बैन कर दिया है। इसके अलावा बैंक से सिर्फ 35,000 रुपये निकासी सीमा तय की है। इससे परेशान होकर पैसे निकालने के लिए लोगों की लंबी लाइन लग गई है।इस दौरान भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने जमार्कताओं से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने सभी लोगों को आश्वसान दिलाया कि बैंक में सभी का पैसा सुरक्षित है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है यह पीएमसी जैसा विषय नहीं है।

नहीं कैंसल हुआ लाइसेंस

आरबीआई ने इस बैंक पर वित्तीय अनियमिततताओं को लेकर पाबंदी लगाई है। वर्तमान में सिर्फ इस बैंक को बैन किया गया है। आरबीआइ ने बताया कि इस बैंक का लाइसेंस अभी रद नहीं किया गया है। मौजूदा बैन के आधार पर बैंक में अगले 6 महीने तक किसी भी प्रकार का निवेश नहीं किया जा सकेगा। साथ ही ये बैंक अब किसी भी ग्राहक के साथ कोई भी लेनदेन नहीं कर पाएगा।

लोगों ने सुनाया अपना दर्द

Loading...

इस बैंक के बंद होने से लोगों को काफी समस्याओं को सामना करना पड़ रहा है। इस मामले पर एक जमाकर्ता ने न्यूज एजेंसी एएनआइ को बताया कि मेरे पति ने इस बैंक में कम से कम 15-20 लाख रुपये जमा किए थे। अब वह रिटायर्ड हो गए हैं। अब हम लोग इस बैंक पर ही निर्भर हैं। उन्होंने बताया कि जब मैंने इस बैंक के बंद होने की खबर सुनी तो हम लोग काफी परेशान हो गए और तुरंत यहा आ गए। हलांकि बैंक के सलाहकर्ता ने बताया कि उनके पैसे बैंक में सुरक्षित है, लेकिन इसके लिए हमें 6 महीने का इंतजार करना होगा। इससे हम खुश नहीं है।

भाजपा सांसद ने जताया आश्वासन

भारतीय जनता पार्टी के सांसद तेजस्वी सूर्या ने ट्वीट कर सभी जमाकर्ताओं को शांत रहने की अपील की है। उन्होंने अपने ट्वीट को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को टैग करते हुए कहा कि वह इस विषय का निजी तौर पर मूल्यांक करेंगी। साथ ही आश्वासन दिलाया है कि कोई भी जमाकर्ता इस मामले पर चिंता न करें।

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

loading...
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com