Monday , 24 February 2020

इन दो गांवों के बीच नहीं होता शादी का कोई रिश्ता 5000 साल से चली अ रही ये… परंपरा

Loading...

आपने यह तो देखा ही होगा कि कई बार शादी के संबंध बिठाने के दौरान अकी चीजों को देखा जाता है और मिलान किया जाता हैं। लेकिन क्या आपने देखा हैं कि संबध के दौरान उसके गांव के कारण उनका रिश्ता नहीं बनता हो। जी हां, दो गांव ऐसे हैं जो कभी भी आपस में वैवाहिक संबंध नहीं जोड़ते। यह अनोखी परंपरा करीब पांच हजार साल से चली आ रही है। हम बात कर रहे हैं नंदगांव और बरसाना की। इन गांव के बीच कोई शानी नहीं हुई लेकिन फिर भी इन दोनों ही गांवों के लोग आपस में ससुराल की रस्म निभाते हैं। नंदगांव के युवा मानते हैं कि बरसाना उनका ससुराल है।

स्थानीय बुजुर्गों का कहना है कि दोनों गांवों में हर जाति बिरादरी के लोग रहते हैं, लेकिन किसी ने भी आज तक न तो बरसाना में बेटे की शादी की है और न ही नंदगांव में किसी ने बेटी की। दरअसल, इस परंपरा को निभाने के पीछे भगवान कृष्ण और राधा रानी का अटूट प्रेम है, जिसे दोनों गांवों के लोगों ने अब तक सहेज कर रखा हुआ है। बरसाना के लोगों का कहना है कि यहां का सिर्फ एक ही दामाद रहेगा और वो हैं श्रीकृष्ण, जबकि नंदगाव की बहू भी सिर्फ एक ही रहेंगी और वो हैं राधा रानी।

Loading...

नंदगांव और बरसाना के लोग मानते हैं कि अगर इन दोनों ही गांवों के बीच रिश्ता जुड़ गया तो लोग राधा-कृष्ण के प्रेम को भूल जाएंगे। उनके इसी प्रेम की धरोहर को नंदगांव और बरसाना के लोग आज तक सहेजे हुए हैं। कहते हैं कि बरसाना के बूढ़े-बुजुर्ग नंदगांव को राधा रानी का ससुराल मानते हुए उसकी सीमा का पानी तक नहीं पीते। आज भी बरसाना में नंदगांव से आए किसी भी व्यक्ति को खाली हाथ विदा नहीं किया जाता। उन्हें ससम्मान ही विदा किया जाता है।

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

loading...
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com