Tuesday , 27 October 2020

अयोध्या में विवादित ढांचा विध्वंस मामले में CBI की विशेष अदालत 30 सितम्बर को फैसला सुनाएगी

Loading...

6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में विवादित ढांचा विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत बुधवार को अपना फैसला सुनाएगी। मामले में सुनवाई पूरी हो चुकी है लगभग सभी आरोपियों ने घटना में शामिल होने से इंकार किया है और कहा है कि उन पर ये आरोप राजनीतिक विद्वेष की भावना से लगाए गए हैं।

बता दें कि इस घटना में भाजपा के वयोवृद्घ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती व विनय कटियार सहित कुछ 49 लोग आरोपी हैं। इनमें से 17 लोगों की मौत हो चुकी है। मामले में लगभग 50 गवाह भी दुनिया से जा चुके हैं।

करीब 28 साल पहले 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या का विवादित ढांचा ढहा दिया गया था। जिसका आरोप 49 लोगों पर लगा। हालांकि, अपने बयान में सभी ने षडयंत्र में शामिल न होने की बात कही।

Loading...

मामले में लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, अशोक सिंघल, गिरिराज किशोर, विष्णु हरि डालमिया, विनय कटियार, उमा भारती व साध्वी ऋतंबरा नामजद अभियुक्त हैं।

यह मामला भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए, 153बी, 505, 147 और 149 के तहत रायबरेली में चला फिर लखनऊ सीबीआई कोर्ट में चल रहे मुकदमों में शामिल कर लिया गया। आरोपियों ने कोर्ट में आकर अपना बयान दर्ज करवाया जो नहीं आ सके उनके बयान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से दर्ज किए गए।

 

बेहद रोमांचक और आश्चर्यजनक जानकारियों के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें

loading...
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com